Module 3

Module Three – Building Business Relationships 

व्यावसायिक संबंध बनाना

Building Business Relationship

a. Meeting for a cup of tea/coffee

Module 3.1        

व्यावसायिक संबंध

Business Relations

 

 

चाय  पर व्यावसायिक चर्चा

Business Talk over a Cup  of Tea

Text Level

 

Intermediate High

Modes

Interpersonal

Interpretive

 

What will students know and be able to do at the end of this lesson?

Extending hospitality and paying compliments in culturally appropriate ways

Text

(होटल मरीना में एक अंतर्राष्ट्रीय शू-फेयर लगा हुआ है जिसमें दुनिया के कोनेकोने से शू-निर्माता, मशीनों  और अन्य संबद्ध उपयोगी वस्तुओं के सप्लायर्स हिस्सा ले रहे हैं। आगरा के प्रमुख जूता व्यवसायी श्री पूरन डावर अपने स्टॉल पर खड़े हैं तभी अहमदाबाद के एक मशीन सप्लायर श्री वीरेन शाह उनके पास आकर अपना परिचय देते हैं)

वीरेन शाह – नमस्कार सर!  मैं वीरेन शाह हूँ अहमदाबाद से। मैं भी इस व्यापार मेले में हिस्सा ले रहा हूँ।

पू.डावर –अच्छा!  आपका स्टॉल कौनसा है?

वी. शाह – सर! स्टॉल नंबर 27। रीजेंट नंबर 1 में।

पू.डावर- क्या बनाते हैं आप?

वी. शाह-सर!  मैं अपर स्टिचिंग की मशीन बनाता हूँ।

पू.डावर – क्या खासियत है इसकी ?

वी. शाह-सर! आप खुद ही चल कर देख लीजिए।

पू.डावर –ज़रूर चलता, पर अभी मैं किसी खास आदमी का इंतज़ार कर रहा हूँ। ठीक समझें तो अपने मशीन की विशेषताएँ यहीं बता दें। समय मिलते ही मैं आप के स्टॉल आऊँगा।

वी.शाह – सर! हमारी मशीनें—

पू.डावर – अरे! आप खड़े क्यों हैं मिस्टर शाह! आइए , यहाँ बैठ कर बातें करते हैं।

(दोनों वहाँ रखी कुरसियों पर बैठ जाते हैं)

वी. शाह – धन्यवाद सर

पू.डावर – भई !  क्या लोगे चाय या कॉफ़ी?

वी. शाह – इसकी कोई ज़रूरत नहीं।

पू.डावर – अरे, नहीं! कुछ तो लो। 

वी. शाह – तो सर ! कॉफ़ी —

पू.डावर –अरे रितेश ! ज़रा ज़ल्दी से दो-तीन कॉफी  के लिए कह देना और हाँ, हम लोग आगरे से जो पेठा और दालमोठ लाएँ हैं न वो भी लेते आना ।

वी. शाह- सर! माफ़ कीजिए ! आपको मेरे कारण इतनी तक़लीफ उठानी पड़ रही है —

पू.डावर – नहीं,नहीं! मुझे तो नई पीढ़ी के साथ बात करना अच्छा लगता है। और सच पूछो तो आगे सब कुछ आप सब को ही तो संभालना होगा। है न !

वी.शाह – पर बड़े–बुज़ुर्गों के अनुभव और आशीर्वाद  हमेशा मिलते रहने से एक तरह की शक्ति मिलती है।

पू.डावर- वास्तव में अब भी कुछ संस्कारी परिवार अपने  नौजवानों को इस तरह के संस्कार दे रहे हैं ।

(कॉफ़ी और जल-पान का सामान आता है)

पू.शाह – लो, शुरू करो।

वी. शाह – सर! आप नहीं लेंगे?

पू.डावर – नहीं , सुबह से कई कप चाय  हो चुकी है । आओ रितेश, तुम साथ दो।

रितेश- मैंने भी अभी दस मिनट पहले ही ली है। पर साथ देने के लिए फिर एक बार सही।

(वीरेन शाह और रितेश चाय पीते हैं )

पू.शाह-तो आप अपनी मशीन के बारे में कुछ बताने जा रहे थे।

वी. शाह- सर! हमारी मशीन पूरी तरह स्वचालित मतलब ऑटोमेटिक है और एक साथ 500 जोड़ी यानी 1000 अपर्स को स्टिच कर सकती है ।

पू.डावर – वाह! ये तो हमारे काम की मशीन लग रही है। मौका मिलते ही एक बार अवश्य देखूँगा। अरे! तुमने पेठा तो चखा ही नहीं। केसरी पेठा है।

वी. शाह – (पेठे का एक टुकड़ा उठाते हुए) मीठा तो मेरी कमज़ोरी है।

रितेश – सर! आगरे की दालमोठ का भी जवाब नहीं। देखा जाए तो आगरे के  पेठे और दालमोठ दोनों का ही दूर-दूर तक नाम है। जूते का नंबर इसके बाद आता है।

पू.डावर – मैं तुम्हारी इस मशीन के बारे में अपने साथियों से भी चर्चा करूँगा।

वी. शाह- सिर्फ बात नहीं सर! सिफारिश भी करनी होगी। एक बार आप खुद देख लें तो मेरा आधा काम तो बन ही जाएगा।

रितेश – सर! ये अब आप को छोड़ने वाले नहीं हैं। आपको अपनी मशीन दिखाकर ही मानेंगे।

पू.डावर- अरे! जब सुन कर ही इतना उत्साह आ गया तो देखकर तो जाने क्या होगा! वैसे फेयर में मशीन भी लाएँ हैं या अभी केवल डेमोवीडियो ही है।

वी. शाह- नहीं,नहीं सर! स्टॉल पर मशीन देखें साथ में उसकी कार्य क्षमता की भी तसल्ली कर लें। मेरे पहली मशीन तो आप के यहाँ ही जाएगी इसका मुझे पूरा विश्वास है।

पू.डावर – आप बढ़िया सेल्समैन हैं इसमें कोई शक नहीं ।

(तभी एक अन्य सज्जन आ कर पूरन डावर को नमस्ते करते हैं)

मुझे अब जाना होगा।

वी. शाह – सर! मशीन देखने आना भूलिएगा नहीं।

पू.डावर- हाँ हाँ ! ज़रूर आऊँगा।

वी.शाह – नमस्ते सर ! आपसे मिलकर बहुत अच्छा लगा।

(पूरन डावर और नवागंतुक निकल जाते हैं और वीरेन शाह अपने स्टॉल की ओर बढ़ जाते हैं)

Glossary

( shabdkosh.com is a link for an onine H-E and E-H dictionary for additional help)

अंतर्राष्ट्रीय

अंतरराष्ट्रीय, international

संबद्ध

संबंधित, related

खासियत f

विशेषता f, विशिष्टता f, वैशिष्ट्य m, specialty

भई, अरे

(informal address forms for anyone)

तक़लीफ f

कष्ट m, trouble

बुज़ुर्ग m

elderly person

अनुभव m

तजुर्बा m, experience

आशीर्वाद m

blessing

संस्कारी परिवार m

family or families with good elements of culture

जवाब न होना

to have no equal

चर्चा करना

to mention, discuss

सिफ़ारिश f

recommendation

नवागंतुक m

new-comer

Structural Review

1.

Synonyms

अंतर्राष्ट्रीय, संबद्ध, नमस्कार, हिस्सा, व्यापार, मशीन and many others in this unit have synonyms अन्तरराष्ट्रीय, संबंधित, नमस्ते, भाग, व्यवसाय, यंत्र. While some forms have contextualized nuances, others are personal preferences of individual speakers.

(मैं) ज़रूर चलता

 

This is a hypothetical/contrary to fact construction. Such constructions always use the ता/ते/ती ending without any tense marker (है/हैं/था/थे/थी, etc.). Its meaning is equivalent to ‘I would have certainly gone if …..

3.

समय मिलते ही

 

 

This is a very productive construction for all verbs. Examples: मिलते ही, आते ही, जाते ही, बोलते ही, देखते ही, etc. . It works as an adverb and the meaning is – as soon as (he/she) met/came/went/spoke, saw, etc.

4.

(आपको) सिफारिश भी करनी होगी

This is a ‘have to’ construction without the implication of any compulsion. In this construction, the subject is always followed by को and the verb phrase takes the infinitive form with the appropriate tense marker (हैं/हैं/था/थे/थी/होगा/होंगे/होगी)

5.

सर! ये अब आप को छोड़ने वाले नहीं हैं। आपको अपनी मशीन दिखाकर ही मानेंगे

This is an interesting blend of formal and informal styles, which is a reflection of an semi-formal relationship between the two interlocutors.

 

Cultural Notes

1.

बड़ेबुज़ुर्गों के अनुभव और आशीर्वाद  हमेशा मिलते रहने से एक तरह की शक्ति मिलती है।

Age and experience are respected in Indian society and such respect is verbalized in various ways.

2.

दालमोठ, पेठा

 

 

दालमोठ is a savory snack made from a type of lentils, and पेठा is a type of dessert made from white ash gourd (a kind of squash) dipped in sugar syrup.

Practice Activities (all responses should be in Hindi)

1.

What’s the role of socialization in business?

2.

Which elements in this unit are not to be found in an American conversation in a similar context?

3.

Role-play a similar dialogue. Let one interlocutor be an American and the other a traditional Indian and adapt the dialogue accordingly.

4.

In this unit, one interlocutor is senior in status and/or older in age. Point out the clues that support this statement.

5.

ये अब आप को छोड़ने वाले नहीं हैं

Construct three sentences illustrating similar usage of वाला.

6.

मशीन देखने आना भूलिएगा नहीं

What is the subject of this sentence?

Why is देखने in the oblique case here?

If we replace the imperative form देखिएगा with देखिए or देखना what difference would it make in the meaning?

Comprehension Questions

1.How long have Mr. Shah and Mr. Davar known each other? What is your best guess based on the above conversation?

            a. They have known each other for a long time.

            b. They have known of each other for a long time.

            c. They came to know about each other in the fair.

            d. There is no indication about this in the text.

2.Who is Ritesh?

a. Mr. Shah’s friend

b. Mr. Dawar’s friend

c. Their common friend

d. Who knows?

b. Hosting a business lunch/dinner

Module  3.2

 

व्यावसायिक संबंध

Business Relations

 

 

 

Business Lunch

खाने पर व्यावसायिक बातचीत

 

Text Level

 

Intermediate High

 

Modes

Interactive

Interpretive

 

What will students know and be able to do at the end of this lesson?

Socializing to discuss a business project

Text

(माइक स्मिथ अमेरिका से भारत के अहमदाबाद शहर में पहुंच चुके हैं। वे डी-मार्ट के सीनियर अफ़सर हैं और गुजरात राज्य में कुछ नये मॉल खोलना चाहते हैं। वे अहमदाबाद में डिपार्टमेन्टल स्टोर्स के मालिक श्री मनीष शाह से मीटिंग करना चाहते हैं। वैसे वे ई-मेल पर पहले ही उनसे संपर्क कर चुके हैं। )

माइक नमस्ते मनीशभाई, मैं माइक बोल रहा हूँ। कल रात मैं यहां पहुंच गया था।

मनीष माइक सर। कैसा रहा आपका सफ़र?

माइक बहुत अच्छा रहा। सफ़र में कोई तकलीफ़ नहीं हुई।

मनीष कौन से होटल में ठहरे हैं? सब इन्तज़ाम तो अच्छा है न?

माइक मैं ट्राइडेन्ट में ठहरा हूँ । बहुत अच्छा इन्तज़ाम है। बहुत अच्छे लोग हैं। और सर्विस भी बढ़िया है।

मनीष गुड! और क्या प्रोग्राम है?

माइक बताइए, आज लंच पर मिल सकते हैं हम लोग?

मनीष ज़रूर। सुबह 11 बजे मेरी एक मीटिंग है। क्या हम दोपहर १ बजे मिलें?

माइक ठीक है मनीशभाई। आप १ बजे ट्राइडेन्ट में आ जाइए।

मनीष थैंक्स स्मिथ साहब। मैं दोपहर १ बजे पहुँचता हूँ।

माइक मैं आपका इन्तज़ार करूँगा।

(मनीशभाई 10 मिनट देर से पहुँचते हैं )

मनीष माफ़ कीजिए माइक सर। मैं थोड़ा लेट हो गया। ट्रैफ़िक में फँस गया था।

माइक कोई बात नहीं मनीशभाई। आजकल बड़े बड़े शहरों में ट्रैफ़िक तो बहुत बड़ी समस्या है।

मनीष जी हां। ख़ैर! मैं डी-मार्ट के मॉल के प्रोपोज़ल में इंटरेस्टेड हूँ। बताइए, मुझे क्या करना होगा?

माइक मैं आपके लिए ये डॉक्युमेंट लाया हूँ। आप इनको अच्छी  तरह पढ़ लीजिए। कल अगर हम फिर मिलकर इसके बारे में विस्तार से बात कर सकते हैं।

मनीष – अरे भाई, यह तो बड़ा लंबा चौड़ा दस्तावेज़ है। कम से कम दो दिन तो दीजिए।

माइक – तो ऐसा करते हैं कि कल मैं दिल्ली हो आता हूँ। वहां दो दिन का काम है। इसके बाद वीकएंड है। आपके पास चार पांच दिन हो जाएंगे। आराम से पढ़ लें। तो हम सोमवार को मिल सकते हैं। कैसा रहेगा आपके लिए?

मनीश – यह तो बिल्कुल ठीक है। जीवन बहुत व्यस्त है। इसलिए कुछ समय मिल जाए तो अच्छा रहेगा।

माइक – संक्षेप में बात यह है कि हम अहमदाबाद में एक ऐसा मॉल चाहते हैं जो एकदम शानदार हो।

मनीष – इसमें हम दोनों की साझेदारी दोनों के लिए बहुत अच्छी रहेगी। ज़मीन तो अपने पास दस एकड़ है। उसकी चिन्ता हमें करने की ज़रूरत नहीं है।

माइक – जी, सबसे बड़ी समस्या तो ज़मीन की ही थी। वह तो आपसे पहले ही बात करके हल हो गई थी। और मैं यह भी कहना चाहता हूँ कि आपकी ज़मीन और वह इलाका जिसमें आपकी ज़मीन है वह हम दोनों को ही बहुत पसंद है।

मनीष – आपकी इनवेस्टमेंट अन्दाज़न कितनी होगी?

माइक – इसमें सब लिखा है विस्तार से। पैसे की  कोई कमी नहीं है। आप चिन्ता न करें। लेकिन हमारी सब शर्तें एक दूसरे को स्पष्ट होनी चाहिएं ताकि बाद में कोई परेशानी न हो।

मनीष – यह तो बिल्कुल ठीक  है। तो चलिए सोमवार को फिर मिलते हैं। यह अच्छा लग रहा है। आपको इंडियन डिशेज़ पसन्द हैं न?

माइक हिन्दुस्तानी खाने के लिए तो मैंने यह नौकरी ली है।

मनीष – तो चलिए सोमवार को हम आपको गुजराती पकवान खिलाएंगे।

माइक – नेकी और पूछ पूछ !

Glossary

( shabdkosh.com is a link for an onine H-E and E-H dictionary for additional help)

संपर्क m

contact

सफ़र m

यात्रा f, journey

फँस जाना

to get stuck

समस्या f

problem

विस्तार से

in detail

व्यस्त

busy

शानदार

उत्तम, superb

साझेदारी f

partnership

अन्दाज़न

लगभग, approximately

पकवान m

cuisine, delicacy

नेकी और पूछ पूछ (Idiom)

sounds great ! No further discussion !

Structural Review

1.

स्मिथ अमेरिका से भारत के अहमदाबाद शहर में पहुंच चुके हैं

All these variants are in use in Hindi. Writers have their individual preference. कौनसा is relatively more standard than the other two variants.

2.

कौन सा, कौनसा, कौन-सा

The present habitual construction has three different implications depending on the context. These meanings are present habitual, immediate future, and theatrical direction. In the example here, the meaning is immediate future. As an example of theatrical direction in a play would be in parenthesis such as (अंदर प्रवेश करता है)।

3.

मैं दोपहर १ बजे पहुँचता हूँ, तो चलिए सोमवार को फिर मिलते हैं

Proverbs are often used in informal or semi-formal speech and convey meaning with clarity and an economy of words.

4.

नेकी और पूछ पूछ

All these variants are in use in Hindi. Writers have their individual preference. कौनसा is relatively more standard than the other two variants.

Cultural Notes

1.

मनीषभाई

The use of respect marker भाई after the first name of men and the use of बेन after the first name of women is common in Gujarat.

2.

हम आपको गुजराती पकवान खिलाएंगे

Hospitality provided to guests is a special characteristic of Indian culture and is often expressed with people taking pride in serving their regional delicacies.

Practice Activities (all responses should be in Hindi)

1.

Role play the above dialogue twice – once with the text and then without the text in front of  you.

2.

 मनीष थैंक्स स्मिथ साहब। मैं दोपहर १ बजे पहुँचता हूँ।

If we substitute पहुँचता हूं with पहुँचूंगा, how would the shade of meaning be different?

3.

हिन्दुस्तानी खाने के लिए तो मैंने यह नौकरी ली है।

Giving and accepting compliments are a creative part of every language. Suggest a couple of other ways in which such a compliment could have been made.

4.

 Point out at least three English words from this unit for which a good Hindi equivalent is not available.

5.

इसमें सब लिखा है विस्तार से

इसमें सब विस्तार से लिखा है

विस्तार से इसमें सब लिखा है

Hindi word order is flexible and the shift of a constituent to right or to left from the basic word order causes a shift in emphasis. Find out which constituent is being emphasized or de-emphasized in the above examples.

Comprehension Questions

1.Who is promising a bigger investment?

a. D-Mart

b. Manish

c. None (almost equal investment)

d. Who knows?

2.Conversation between Mike and Manish is –

            a. formal

            b. semi-formal

            c. informal

            d. casual

c. Exchanging gifts

Module 3.3                        

 

व्यावसायिक संबंध

Business Relations

 

 

 

भेंटों का आदान-प्रदान

Exchanging  Gifts

 

Text Level

 

Intermediate High

Modes

Interactive

Interpretive

 

What will students know and be able to do at the end of this lesson?

Socializing in a business context

Text

(श्री अजय शर्मा को भारत की प्रमुख कार निर्माता कंपनी मारुति सुज़ुकी ने अपना डीलर नियुक्त किया है। उनसे मिलने आते हैं उनके दोस्त श्री रमेशचंद्र शर्मा, जोकि स्वयं शर्मा इंटरनेशनल नामक हस्तशिल्प निर्यातक इकाई के मैनेजिंग डायरेक्टर हैं)

अजय शर्मा नमस्कार शर्मा जी ! बड़े दिनों बाद दर्शन हो रहे हैं आपके। लायंस क्लब की पिछली मीटिंग में भी ग़ायब रहे आप।

रमेश शर्मा नमस्कार अजय जी ! क्या बताऊँ , पिछले एक महीने से यूरोप में था। कल ही लौटा हूँ। सुना है, हमारे पीछे से आपने बहुत लंबा हाथ मारा है।

अजय शर्मा (हँसते हुए) अरे नहीं ! बस, आप जैसे शुभचिंतकों का ही आशीर्वाद है। लेकिन मुझे तो आप जैसे निर्यातकों से ईर्ष्या होती है आज यूरोप तो कल अमेरिका तो परसों पता नहीं कहीं और।

रमेश शर्मा रोज़ी रोटी का सवाल है अजय जी। भाग-दौड़ किए बिना चारा भी नहीं।

अजय शर्मा – काश ! ऐसी भाग-दौड़ सबके नसीब में हो।

रमेश शर्मा अजय जी ! मुझे तो प्रिया ने फोन पर बताया था, आपकी डीलरशिप वाली खबर।

उस समय मैं इटली में था और वहीं से आपके शो-रूम के लिए एक बहुत ही खूबसूरत शो-पीस हाथ लग गया। इससे आप के शो-रूम में चार चाँद न लग जाए तो कहिए !

अजय शर्मा अब यह तो वही बात हुई कि दुल्हन मिलने से पहले शादी तय हो रही है। अभी शोरूम की जगह भी तय नहीं लेकिन शोपीस तय हो गया।

रमेश शर्मा वाह! क्या बात कही। पर सच कहता हूँ एक बार शो-पीस देख लेंगे तो शोरूम भी फाइनल करने की जल्दी मचेगी। इसकी खूबसूरती से आप बच नहीं सकते।

अजय शर्मा अजय जी ! क्या मैं आपकी पसंद नहीं जानता। मुझे पूरा पूरा विश्वास है कि जितना आप कह रहे हैं शो-पीस उससे ज़्यादा खूबसूरत होगा।

रमेश शर्मा – बातों बातों में मैं तो मिठाई भी माँगना भूल गया।

अजय शर्मा – बातों बातों में नहीं, इटली की बातों में। लेकिन ज़्यादा देर नहीं हुई। लीजिए, अभी खिलाते हैं।

               (सहायक को आवाज़ देते हैं )

श्याम ! साहब के लिए मिठाई लाना और साथ में दो कप गरमा गरम कॉफ़ी भी।

रमेश शर्मा क्या ? इतनी बड़ी खुशखबरी और बस एक प्याला कॉफ़ी और मिठाई। हम पार्टी से कम पर नहीं मानेंगे।

अजय शर्मा नहीं, शर्मा जी ! शो-रूम की तो पार्टी ज़रूर होगी। इतने मिलने वाले हैं, यार दोस्त हैं, सारे रिश्तेदार भी शहर में ही हैं। बचना चाहूँ तो भी बच नहीं सकता।

(श्याम दो कप कॉफ़ी और प्लेट में मिठाई और नमकीन ले कर अंदर आता है। दोनों कॉफ़ी लेते हैं)

अजय शर्मा यह क्या ! मिठाई भी लेनी होगी। आज डायबिटीज़ वायबिटीज़ नहीं चलेगी।

रमेश शर्मा – बिल्कुल ! आज तो मैं खुद कोई परहेज़ की बात याद नहीं करना चाहता। ज़रूरत होगी तो दो-एक आसन ज़्यादा कर लूँगा और क्या ! रामदेव जी का योग किस दिन काम आएगा।

           ( मुस्कराते हुए मिठाई लेते  हैं )

अजय शर्मा याद आया। नए साल पर कंपनी की ओर से कुछ विशेष उपहार आए थे। एक मैंने आपके लिए भी बचाकर रखा हुआ है।

श्याम ! ऑफिस में जो गिफ़्ट पैक रखा है, लेते आना।

रमेश शर्मा अरे ! आज नहीं। ऐसे लगेगा जैसे इस हाथ दिया और उस हाथ ले लिया।

अजय शर्मा नहीं , आज ही लेते जाएँ। वरना कोई आ जाएगा तब यह गिफ़्ट बचेगा कि नहीं – कह नहीं सकता।

             ( श्याम गिफ़्ट पैक लेकर आता है )

अजय शर्मा लें, कबूल करें।

रमेश शर्मा धन्यवाद ! लेकिन पार्टीवाली बात भूलें नहीं।

अजय शर्मा मुझे आप सब को अपनी कार बेचनी हैं या नहीं।

          (दोनों हँस पड़ते हैं )

रमेश शर्मा तो अब इज़ाजत दें।

अजय शर्मा – जल्दी ही मिलेंगे। नमस्कार।

रमेश शर्मा नमस्कार।

Glossary

( shabdkosh.com is a link for an onine H-E and E-H dictionary for additional help)

प्रमुख

major

नियुक्त करना

to appoint

हस्तशिल्प m

handicraft

निर्यातक इकाई f

export unit

शुभचिंतक

well-wisher

आशीर्वाद m

blessing

ईर्ष्या f

जलन, jealousy

चार चाँद लगना (Idiom)

to get additional honors और अधिक खूबसूरती बढ़ना

दुल्हन f

bride

खूबसूरती f

सुंदरता f, सौंदर्य m, beauty

बातों बातों में

while chit-chatting

मिलनेवाले (लोग) m.pl.

परिचित लोग, acquaintances

उपहार m

तोहफ़ा m, gift

इजाज़त देना

आज्ञा देना, अनुमति देना, to permit to leave

लंबा हाथ मारना (Idiom)

बहुत बड़ा लाभ पाना

Structural Review

1.

नियुक्त करना

This is a pseudo verb of Hindi. As Hindi does not have true verbs matching all English verb forms, new verb forms are generated with the help of a noun or an adjective plus करना or होना. For example – नियुक्त करना, इंतज़ार करना, मरम्मत करना, साफ़ करना, ठीक करना. Their intransitive counterparts are  नियुक्त होना, इंतज़ार होना, मरम्मत होना, साफ़ होना, ठीक होना.

 2.

पिछली मीटिंग में भी ग़ायब रहे आप।

 

 

Note the placement of the subject आप to the end. Hindi word order is more flexible than English. The neutral word order is Subject – Object – Verb but these elements can be switched around for emphasis or de-emphasis. In this example, the subject in this sentence is de-emphasized.

3.

मुस्कराते हुए मिठाई लेते  हैं

This is an adverbial version of the participial construction मुस्कराते हुए. There also exists an adjectival version in which the form would change for gender and number (मुस्कराता हुआ लड़का, मुस्कराती हुई लड़की) but the adverbial form मुस्कराते हुए stays constant.

4.

लें, कबूल करें

This construction is subjunctive, which is used for suggesting or requesting something politely.

Cultural Notes

1.

Social Relationships

There are many variations in relationships in human society. See in the above dialogue where the language is a mix of informality and formality (informality expressed through humorous comments, claims made on the other person, the use of idioms, and at the same time formality also expressed through the use of subjunctive forms and the formal pronoun आप).

2.

Food

 

In India, serving food is an important aspect of gatherings, be it social, corporate, academic or business meetings.

Practice Activities (all responses should be in Hindi)

1.

How would you define the business relationship between the two interlocutors of this unit? Mention different clues in support of your response.

2.

Role-play this dialogue with a sense of humor taking multiple clues from the above dialogue.

3.

Use these idioms in your own sentences – लंबा हाथ मारना, चार चांद लगना, एक हाथ लेना दूसरे हाथ देना

4.

मुझे आप सब को अपनी कार बेचनी हैं

मैंने आप सब को अपनी कार बेचनी हैं

Although the first is standard usage, the second usage also occurs, especially in and around the Delhi area. How would you differentiate between the two variant expressions? Find out who are likely to use the second variant.

5.

नहीं, शर्मा जी ! शो-रूम की तो पार्टी ज़रूर होगी।

What is the function of नहीं in the beginning of the above sentence? It is certainly not a negation.

Comprehension Questions

1.Overtly who is envious of who?

            a. Ajay of Ramesh

            b. Ramesh of Ajay

            c. Both of each other

            d. None

2.What is the motivation behind exchange of gifts?

            a. Professional courtesy

            b. Personal friendship

            c. Seeking favors

            d. None of the above

d. Discussing hobbies

Module 3.4

 

व्यावसायिक संबंध

Business Relations

 

 

 

खाने पर परिचयात्मक बातचीत

Business Dinner & Socialization

Text Level

 

Intermediate High

Modes

Interactive

Interpretive

 

What will students know and be able to do at the end of this lesson?

Socializing in a business context

Text

(दो लोग खाने की मेज़ पर हैं। व्यवसाय की बातें भी हो रही हैं और बीच बीच में व्यक्तिगत बातें भी, ख़ासकर व्यक्तिगत शौकों के बारे में)

राव साहब खाना आ गया। लीजिए खाना।

साइमन साहब हां खाने के साथ साथ कुछ काम की बात भी हो जाए। तो बताइए नमूने कब तक तैयार हो जाएंगे? मुझे कुछ नमूने तो अपने साथ लेकर जाने होंगे।

राव साहब देखिए, आज शुक्रवार है। कल और परसों वीकएंड के दौरान छुट्टी है। मंगलवार तक हम सारे सैंपल तैयार करके आपको दे सकते हैं। तो वीकएंड में आपका क्या प्रोग्राम है? अगर शौक फ़रमाते हों तो कल सुबह गोल्फ़ खेलने चलते हैं।

साइमन साहब बहुत दिन से मैंने गॉल्फ़ को हाथ नहीं लगाया है लेकिन चल सकते हैं। लगता है आप गॉल्फ़ के काफ़ी शौकीन हैं?

राव साहब हां शौक तो बहुत पुराना है।

साइमन साहब मैं तो समझता था कि आप क्रिकेट में दिलचस्पी रखते होंगे?

राव साहब हां दिलचस्पी तो बहुत है लेकिन क्रिकेट खेलता नहीं। जब क्रिकेट का खेल होता है तो उसको देखने से फ़ुरसत नहीं मिलती। कई बार तो ऑफ़िस का काम भी भूल जाता हूँ।

साइमन साहब उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में कोई क्रिकेट मैच नहीं है वरना हमारे सैंपल ठीक वक्त पर पूरे न हो पाएंगे।

राव साहब अजी ऐसा कैसे हो सकता है? तो आपके शौक क्या हैं? ख़ाली वक्त में क्या करते हैं आम तौर पर?

साइमन साहब ज़्यादा खाली वक्त तो होता ही नहीं। सफ़र में और रात सोने से पहले कुछ पढ़ना अच्छा लगता है। एक बार में एक किताब पूरी करने का समय तो मैं भी नहीं निकाल पाता पर अपने पास कोई न कोई किताब ज़रूर रखे रहता हूँ | कई बार फ़्लाइट की प्रतीक्षा में इस तरह किताब साथ होने से  समय का बहुत अच्छा उपयोग हो जाता है और बोरियत से भी बच जाता हूँ एक पंथ दो काज |

राव साहब कैसी किताबें पसंद हैं आपको? एक किताब जो मुझे बहुत अच्छी लगी वह मैं रिकमेंड करना चाहूंगा। शायद आपने पढ़ी हो?

साइमन साहब कौनसी किताब?

राव साहब डिफ़ीकल्टी आफ़ बीइंग गुड।

साइमन साहब हां इसका रिव्यू मैंने कहीं पढ़ा था।

राव साहब कैसा था?

साइमन साहब ठीक था।

राव साहब मुझे तो किताब अच्छी लगी। बिज़नेस वालों के लिए भी बहुत कुछ है उसमें।

साइमन साहब महाभारत की कहानी से कुछ संबंध है न उसका?

राव साहब हां बिल्कुल ! महाभारत की कहानी को आधार बना कर आज के जीवन में नैतिक मूल्यों की काफ़ी अच्छी चर्चा है।

साइमन साहब मैं भी इसे पढ़ना चाहूंगा। एक किताब और है जो शायद आपको पसंद आए। है तो कुछ पुरानी। वह है द टिपिंग पाइंट।

राव साहब जी मैंने पढ़ी है। क्या किताब है ! बिज़नेस वालों के लिए भी अच्छी है।

साइमन साहब चलिए किताबों के बारे में बहुत बात हो गई। तो कल गॉल्फ़ खेलने चलना है?

राव साहब मैं आपको दस बजे आपके होटल से पिकअप करता हूँ। उसके बाद लंच भी हमारे घर ही कीजिए।

साइमन साहब चलिए। ठीक है। लेकिन सैंपल मंगलवार तक तैयार हो जाएंगे न?

राव साहब यह राव का दिया वचन है। आप चिंता न करें। एक दम पक्का। दो बजे से पहले सब सैंपल आपके हाथ में होंगे।

साइमन साहब यह हुई न बात !

Glossary

( shabdkosh.com is a link for an onine H-E and E-H dictionary for additional help)

व्यवसाय m

व्यापार m, business

व्यक्तिगत शौक m

personal hobby/hobbies

नमूना m

sample

शौक फ़रमाना (Urdu style)

to be interested

शौकीन

fond of

फ़ुरसत f

free time

आम तौर पर

सामान्यतः, usually, generally

प्रतीक्षा f

इंतज़ार m, a wait

बोरियत f

boredom

नैतिक मूल्य m

ethical value

यह हुई न बात ! (Idiom)

that’s wonderful !

Structural Review

1.

Verb Agreement

In the sentence मुझे कुछ नमूने तो अपने साथ लेकर जाने होंगे the verb has agreement with the object नमूने (masc. plural). The rule is that verb agrees either with its subject or object whichever is without a postposition. If both are without postposition then subject is preferred over the object. If both of them have a postposition, then the verb stays in neutral form (which is masculine singular).

2.

हम सारे सैंपल तैयार करके आपको दे सकते हैं

Here the form करके  is a combination of the verb करना+ के. The general rule is verb stem+ कर / के / करके, but when the stem is कर it can only be followed by के.  It is an adverbial form and denotes a preceding action in a sequence of two actions (example – वह पढ़कर सो गया). There are a few situations where the two actions are concomitant (example – वह हंसकर बोला).

3.

कोई न कोई

Similar phrases are कभी न कभी (at some point of time or other), कहीं न कहीं (somewhere or other). These are conventionalized phrases and need to be learned as a unit.

4.

लेकिन सैंपल मंगलवार तक तैयार हो जाएंगे न ?

The tag is an informal way of confirming something relevant to the context. The tagged is equivalent to the English tag question ‘right?’ after the statement.

Cultural Notes

1.

Mixing entertainment with business

This is part of the new corporate culture. In traditional business contexts, entertainment is not often mixed with business.

2.

Punctuality

 

In the Indian context, one needs repeated confirmations to ensure that the job will be done in time. 

Practice Activities (all responses should be in Hindi)

1.

Role-play the above dialogue.

2.

Discuss with each other what you like to do in your free time.

3.

एक किताब जो मुझे बहुत अच्छी लगी वह मैं रिकमेंड करना चाहूंगा। शायद आपने पढ़ी हो?

मैं आपको दस बजे आपके होटल से पिकअप करता हूँ

Paraphrase the above sentences without using the English word रिकमेंड and पिकअप.

4.

महाभारत की कहानी से कुछ संबंध है न उसका?

What is the pragmatic reason of placing the word उसका at the end of the sentence?

5.

यह हुई न बात !

Create a short dialogue using the above phrase making sure that it is contextually appropriate.

Comprehension Questions

1.Mr. Rao’s focus throughout the conversation is –

          a. to socialize with Mr. Simon

          b. to divert Mr. Simon’s attention

          c. to know more about Mr. Simon

          d. to tell Mr. Simon about himself

2.Mr. Simon did not ask about one of the following?

          a. Mr. Rao’s interests

          b. product samples

          c. his likings in food

          d. sports

Skip to toolbar