Skip to toolbar

Module 11b

Previous | Next

b. Some interesting business story – Kiran Majumdar

Module 11.2

 

दूरदर्शी व्यवसायी

Business People with a Vision

 

 

किरन मजूमदार

Kiran Majumdar

Text Level

 

Advanced

Mode

Interpretive

 

What will students know and be able to do at the end of this lesson?

Analyzing personality traits of Kiran Majumdar for her success

Text

किरन मजूमदार                 

जन्म – बंगलौर, 23 मार्च 1953

भारत की सबसे बड़ी बायोटेक्नोलॉजी कंपनी बायोकॉन लिमिटेड की अध्यक्ष व प्रबन्धक निदेशक किरन मजूमदार शॉ सन् 2004 में भारत की सबसे धनी महिला बन गयीं। आपको सन् 1989 में पद्मश्री और सन् 2005 में पद्मभूषण के पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। उन्होंने बैंगलोर के बिशप कॉटन गर्ल्स स्कूल और माउंट कारेमल कॉलेज में अपनी शुरुआती पढ़ाई की। सन् 1973 में उन्होंने बैंगलोर यूनिवर्सिटी से प्राणीशास्त्र में बी.एस.सी. की डिग्री प्राप्त की। उसके बाद वे मेलबॉर्न आस्ट्रेलिया की बेलारत यूनिवर्सिटी में गयीं और वहाँ पर उन्होंने एक मास्टर ब्रूअर के रूप में योग्यता हासिल की।

किरन मजूमदार शॉ ने अपना प्रोफेशनल कैरियर सन् 1974 में कार्ल्टन एंड यूनाइटेड बेवरेजेस में एक ट्रेनी की हैसियत से शुरू किया था। सन् 1978 में आयरलैंड के बायोकॉन बायोकेमिकल्स लिमिटेड में एक ट्रेनी मैनेजर के रूप मे वे जुड़ीं। उसी वर्ष उन्होंने बायोकॉन बायोकेमिकल्स के साथ मिलकर बायोकॉन इंडियाकी स्थापना की, वो भी सिर्फ़ दस हज़ार रुपयों की पूँजी से। शुरू में उन्हें अपने व्यवसाय में पूंजी लाने के लिए काफ़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। बैंक उन्हें ऋण देने में हिचकिचा रहे थे क्योंकि उस समय बायोटेक्नोलॉजी एक बिल्कुल नया क्षेत्र था और वे एक महिला उद्यमी थीं, जो कि उस समय एक आम बात नहीं थी।

बायोकॉन शुरू में पपीते से एन्ज़ाइम निकालते थे। किरन मजूमदार शॉ की देखरेख में बायोकॉन एक इंडस्ट्रीयल एन्ज़ाइम कंपनी के रूप में बदल गया और आगे चलकर यह कंपनी एक इंटीग्रेटेड बायोफार्मास्यूटिकल कंपनी के रूप में बदल गयी जिसके साथ नीतिगत रिसर्च कार्य-कलाप भी जुड़े थे। आज बायोकॉन भारत के अग्रणी बायोटेक उद्यम के रूप में पहचाना जाता है। सन् 2004 में बायोकॉन का इश्यू आया जो 30 गुना से भी अधिक ओवर-सब्सक्राइब हुआ। इस इश्यू के बाद किरन मजूमदार शॉ ने कंपनी के स्टॉक का 40% हिस्सा अपने पास रखा जिसने उन्हें भारत की सबसे धनी महिला बना दिया। उनके पास 2100 करोड़ रुपयों क नेटवर्थ था।

किरन मजूमदार शॉ को पद्मश्री और पद्मभूषण के अलावा अनेक प्रतिष्ठित एवॉर्ड प्राप्त हुए जिनमें शामिल हैं – ‘ई टी बिज़नेस वूमन आफ द ईयर, बेस्ट वूमन एन्टरप्रिनार, मॉडेल एम्प्लॉयर, अरन्स्ट एंड यंग का लाइफ साइसेज़ और हेल्थकेअर के लिए एन्टरप्रिनार आफ द ईयर एवॉर्ड, लीडिंग एक्सपोर्टर, आउटस्टैंडिंग सिटीज़न, ‘टेक्नोलॉजी पायोनियर आदि आदि।

सामाजिक कार्यों में योगदान के क्षेत्र में 2004 में किरन मजूमदार ने बायोकॉन फ़ाउंडेशन की स्थापना की। फ़ांउडेशन की गतिविधियां समाज के कमज़ोर हिस्सों में स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं प्रदान करती है। भारत के विभिन्न भागों में स्थापित सात केन्द्रों के माध्यम से प्रतिवर्ष लगभग तीन लाख लोगों को सहायता दी जाती है। उन्होंने 2007 में बंगलौर में नारायण हृदयालय के साथ मिलकर 1400 बेड का कैंसर केयर सेंटर बनाया है। उन्होंने हैदराबाद के इंडियन स्कूल ऑफ़ बिज़नेस के सेंटर फ़ार लीडरशिप इनोवेशन एंड चेंज के अंतर्गत एक बायोकॉन सैल की स्थापना की है जहां इनोवेशन मैनेजमेंट पर शोध होता है।

Glossary

( shabdkosh.com is a link for an onine H-E and E-H dictionary for additional help)

शुरुआती प्रारंभिक, initial
प्राणीशास्त्र biology
हैसियत capacity
हिचकिचाना to hesitate
योगदान contribution
गतिविधियां activities
शोध अनुसंधान m, research

Structural Review

1. हासिल करना This is a pseudo verb in Hindi but functions like a real verb where the verb करना is conjugated. In Hindi, making transitive verbs with करना and intransitive verbs with होना is common. Before करना or होना, an appropriate noun or adjective is used. For example – बात करना, इंतज़ार करना, मदद करना, मरम्मत करना (all with nouns), and साफ़ करना, शुरू करना, समाप्त करना, हासिल करना (all with adjectives).
2. भारत के विभिन्न भागों में …… सहायता दी जाती है

 

This is a passive voice construction where the verb देना is in the perfective feminine singular form and the passive voice marker जाना is conjugated in the present habitual to indicate a constantly occurring situation.
3. उन्होंने …. बनाया है

 

 

The perfective form of a transitive verb necessitates the use of ने after the subject of the same sentence. Unlike other postpositions, the postposition ने has no meaning of its own; it’s a grammatical necessity.

Cultural Notes

1. Recent coinages Many new words have been coined to match English words. Some examples in this lesson are प्रबन्धक, निदेशक, प्राणीशास्त्र, उद्यम, उद्यमी.
2. Use of English words

 

There are hundreds of words for which good Hindi equivalent is not available. In such situations, English words are freely used in Hindi text of which there are several examples in this unit.

Practice Activities (all responses should be in Hindi)

1. Find more information about Kiran Majumdar from the Internet and other sources. Share your information with others.
2. सन् 2004 में बायोकॉन का इश्यू आया जो 30 गुना से भी अधिक ओवर-सब्सक्राइब हुआ

Use your multiple resources and try to re-state this sentence in whatever measure possible without the help of English words.

3. The following collocations are from this unit. Think of some more from other contexts. देखरेख, कार्य-कलाप, स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं
4. Look at the preponderance of English words used in this unit. Which ones are dispensable and at what cost?
5. नीतिगत रिसर्च कार्य-कलाप

The first word in the above phrase is a compound word made up of two words. Try to get the literal meaning of its two components and then its contexualized composite meaning. Try to come up with a few more words that are compounded with  -गत.

Comprehension Questions

1. Kiran Mazumdar studied or worked in how many countries?

a. 1

b. 2

c. 3

d. 4

2. What is not stated or implied about Kiran Mazumdar in the text?

a. She is a  great philanthropist.

b. She is the richest woman in India.

c. She is a great leader in her industry.

d. She is a great researcher herself.

Previous | Next