Skip to toolbar

Module 8d

Previous | Next

d. Business Headlines – type D

Module 8.4

 

व्यावसायिक समाचार

Business News

 

 

 

राष्ट्रीय समाचार -3

National News

 

Text Level

Advanced

Mode

Interpretive

 

What will students know and be able to do at the end of this lesson?

Understanding the distinctiveness of idiom and reporting style of Hindi media

Text

1. स्वरोजगार के लिए महिलाओं को आसान लोन

   नई दिल्ली ।  महिलाओं को स्वरोजगार के लिए आसानी से लोन मुहैया कराने के मकसद से सरकार राष्ट्रीय महिला कोष को नया रूप देने जा रही है । इसके बाद महिलाओं को स्वरोजगार की नई-नई गतिविधियों मसलन, इंटरनेट कैफे, कोचिंग सेंटर आदि शुरू करने में आसानी होगी । महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने इसे डेवलपमेंट बैंक का रूप देने के संबंध में एक प्रस्ताव वित्त मंत्रालय को भेजा है । सूत्रों के मुताबिक जल्द ही इस दिशा में फैसला कर लिया जायेगा । विकास बैंक का स्वरूप दिये जाने के बाद राष्ट्रीय महिला कोष, नाबार्ड (नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट) और सिडबी की तर्ज पर काम करेगा । जिन इलाकों में व्यावसायिक और सहकारी बैंकों की पहुंच नहीं है, वहां पर यह माइक्रो फाइनेंस की सुविधा मुहैया करायेगा ।

वित्त वर्ष 2009 -10 के बजट में केंद्र सरकार ने इसके लिए 500 करोड़ रुपये की धनराशि आबंटित की है । सरकार द्वारा प्रस्तावित राष्ट्रीय महिला सशक्तीकरण मिशन में भी राष्ट्रीय महिला कोष को पुनर्गठित करने की बात कही गयी है । प्रमुख गतिविधियां जिनके लिए मिलेगा लोन – सरकारी राशन की दुकान, एसटीडी, पीसीओ-इंटरनेट कैफे, कोचिंग सेंटर, गारमेंट मैन्युफैक्चरिंग, फूलों की खेती, केला, आम जैसे फलों के बगीचे किराए पर लेना, डेयरी, बकरीभेड़बतख पालन, प्रोविजनल स्टोर, खाद, कीटनाशक की दुकान आदि ।

 2. महिला स्वयं समूहों को सस्ता कर्ज मिले

नई दिल्ली । राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने शनिवार को भारतीय रिजर्व बैंक से कहा कि वह महिलाओं और विशेष तौर पर गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों को ऋण देने के लिए तंत्र विकसित करे । इस तरह की मदद पर ब्याज दर चार फीसदी सालाना से अधिक न हो ।

    भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि उसे इस मसले का परीक्षण करना होगा । राष्ट्रपति ने केंद्रीय बैंक से ब्याज दर की सीमा भी तय करने के बारे में कहा । यह पूछने पर कि क्या केंद्रीय बैंक ऐसा करेगा आरबीआई के गवर्नर डी सुब्बाराव ने कहा कि इस मामले पर विचार करना होगा ।

    आरबीआई के डिप्टी गवर्नर केसी चक्रवर्ती ने कहा कि आरबीआई स्वयं सहायता समूह को ऋण नहीं देता है बल्कि बैंक ऋण देते हैं इसलिए बैंक इस बारे में फैसला ले सकते हैं । यदि बैंकों को चार फीसदी के ब्याज पर ऋण देना व्यावहारिक लगता है तो वे देंगे अन्यथा नहीं देंगे । उन्होंने कहा कि ऐसी व्यवस्था हो सकती है कि एक समूह रियायती दर पर ऋण प्राप्त करे लेकिन यह आम प्रणाली नहीं बन सकती । उन्होंने कहा कि गरीब ऋण की आपूर्ति के बारे में ज़्यादा चिंतित हैं ।

3. सात की रफ्तार से दौड़ेगी अर्थव्यवस्था

   राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने शनिवार को भरोसा जताया कि भारतीय अर्थव्यवस्था अगले वित्त वर्ष में सात फीसदी से ज़्यादा की वृद्धि दर दर्ज करेगी । लेकिन साथ ही उन्होंने भारतीय रिजर्व बैंक को बेलगाम ऋण के बारे में आगाह किया जिससे महंगाई दर बढ़ सकती है ।

  आरबीआई के अमृत महोत्सव (75वीं वर्षगांठ) के मौके पर टिकट जारी करते हुए राष्ट्रपति ने केंद्रीय बैंक से महिलाओं और विशेष तौर पर गरीबी रेखा से नीचे की महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों को ऋण देने पर विचार करने को कहा ।

  पाटिल ने आरबीआई को आगाह किया बेतरतीब तरीके से ऋण न दें । साथ ही उत्पादक क्षेत्रों को ऋण से वंचित न रखा जाए । दिसंबर के आंकड़ों के मुताबिक सस्ती दरों पर ऋण के जरिए अत्यधिक धन की आपूर्ति के कारण महंगाई दर बढ़ सकती है । थोक मूल्य आधारित मुद्रास्फीति पहले ही सात फीसदी से अधिक है ।

  पाटिल ने कहा कि इस संकट से जो एक सीख ली जा सकती है वह यह है कि बेलगाम ऋण नहीं दिया जाना चाहिए । भारतीय रिजर्व बैंक को यह जरूर सुनिश्चित करना चाहिए कि बैंकों के पास जोखिम प्रबंधन के लिए पर्याप्त दिशानिर्देश हों ।

Glossary

( shabdkosh.com is a link for an onine H-E and E-H dictionary for additional help)

मकसद m उद्देश्य m, उद्दिष्ट m, objective
गतिविधि f activity
मसलन उदाहरणार्थ, for example
तर्ज़ f tune, ways of doing something or method (figurative)
सशक्तीकरण m empowerment
तंत्र m system, mechanism
मसला m समस्या f,problem
अर्थव्यवस्था f economy
जोखिम प्रबंधन m risk management
दिशानिर्देश m direction

Structural Review

1. स्वरोगार, र्ज, र्ज, रिर्व, रूर, फीसदी, फैसला, फ्ता This note is about two pairs of variants / and / . The latter variant in each pair is pronounced like /z/ and /f/ in English and is considered more urban and more elegant. These two sounds occur only in borrowed words in Hindi. They were introduced in Hindi through Perso-Arabic contact and subsequently reinforced by English. In order to know where these sounds are appropriate, it is important to know the origin of the words in which they occur. We also see many Hindi speakers hyper-correcting these as and , even when the original sounds were and.
2. ऋण देने पर विचार करने को कहा ।

 

 

Here करना is a verbal noun, meaning a noun derived from a verb. English also has verbal nouns, known as gerunds in English grammar, e.g. Swimming is a good exercise, where swimming functions like a noun.
3. Use of Urdu words in Hindi

 

 

The lexical borderline between Hindi and Urdu is thin. There are many Urdu words that are fully assimilated in Hindi (e.g., किताब, ख़ानदान, ग़लत, ज़बान) while there are others which are not part of the active vocabulary of most Hindi speakers and are not likely to be found in Hindi dictionaries. Examples from this unit are  मुहैया कराना, गौरतलब, बेलगाम, बेतरतीब, आगाह करना.
4. Use of hyphen in Hindi writings

 

Use of the hyphen is unregulated in Hindi. Many people use a hyphen to connect words that are semantically connected in a compound word. See examples in the text above.

Cultural Notes

1. Women

 

Women are considered one of the historically disadvantaged groups. Such disadvantaged groups are determined along lines of race, ethnic group, poverty, or sex and are to be found in most societies, although caste is an additional factor in India. Such groups have been denied access to economic opportunities in the past. Some members of dominant groups in different societies perceive such steps of their government as reverse discrimination.

Practice Activities (all responses should be in Hindi)

1. There are multiple micro-financing organizations in India, which provide loans to weaker sections of the society. Their rate of interest, however, is usually very high. Do some research to find out the rationale for such a high rate of interest.
2. What is it that the United States is doing to uplift its weaker citizens from poverty? What can the two nations (the United States and India) learn from each other?
3. Collect information about one micro-financing company in India and make a detailed presentation about it.
4. Read the article by “Rebuilding a Stronger Microfinance Sector in India” published in Knowledge@Wharton. The article can be found at https://knowledge.wharton.upenn.edu/article/vijay-mahajan-rebuilding-a-stronger-microfinance-sector-in-india/ Summarize its major points and present your own critique of it.
5. What is the procedure that lending agencies in India follow to determine their borrower’s creditworthiness?

Comprehension Questions

1. According to the text, at which stage do you find the National Women’s Fund?

a. proposal writing

b. proposal submission

c. implementation

d. functioning

2. What was President Patil’s central point in her speech?

a. Providing low interest loans to poor people is important.

b. The production sector should be encouraged with loans.

c. Unlimited loans at low interest rates can hurt the economy.

d. The Reserve Bank should have guidelines for risk management.

Previous | Next