Module 2

Previous | Next

Module Two – Introductions

परिचय

Introductions

a. Introducing Self

Module 2.1

 

            परिचय

(Introduction)­­­

 

 

नौकरी के लिए इंटरव्यू में अपना परिचय देना

Introducing Self in a Job Interview

 

Text Level

 

Intermediate High

Modes

Interactive

Interpretive

 

What will students know and be able to do after completing this unit?

Introducing oneself in some detail in culturally appropriate ways

Text

(साक्षात्कार के लिए संतोष मिश्रा का नाम पुकारा जाता है और संतोष मिश्रा भीतर जाने के लिए ऑफ़िस के दरवाज़े पर खड़े हो कर अनुमति माँगता है )

संतोष – सर ! क्या मैं भीतर आ सकता हूँ ?

नियोक्ता – आइए, आइए। बैठिए !

                ( संतोष कमरे में आता है और अभिवादन करता है )              

संतोष – नमस्कार सर !

 (संतोष कुर्सी पर बैठता है और अपने बैग को सँभालता है)

नियोक्ता – नमस्कार ! तो आपने  अकाउंटेंट पद के लिए आवेदन किया है।

संतोष –जी हाँ सर !

   (नियोक्ता संतोष मिश्रा का आवेदन पत्र उठाते हैं)

नियोक्ता  – अपने परिवार के बारे में कुछ बताइए।

संतोष – सर ! मेरा नाम संतोष मिश्रा है। पिताजी का नाम रमाशंकर मिश्रा है। वे 36 साल तक भारतीय रेल सेवा के बाद पिछले साल ही रिटायर हुए हैं। मेरी माता का नाम माया देवी है और वे एक गृहिणी है। आज मैं जो कुछ भी हूँ अपने माता-पिता के त्याग और आशीर्वाद के कारण ही हूँ।

नियोक्ता – आप ऐसे क्यों बोल रहे हैं मि. मिश्रा ?

संतोष – सर  परिवार में मेरे अलावा दो भाई और चार बहनें हैं और मैं सबसे छोटा हूँ। घर में सिर्फ़

पिताजी ही कमाने वाले थे और उनकी नौकरी भी सिर्फ़ क्लर्क ग्रेड की ही थी। लेकिन मेरे पिताजी की कर्मठता, दूरदृष्टि और माता के त्याग के ही कारण सभी हम भाई-बहनों को अच्छी से अच्छी शिक्षा मिल सकी। आज मेरे दोनों भाई सरकारी नौकरी में हैं और मेरी चारों बहनों की शादी भी अच्छे घरों में हो गई।

नियोक्ता – बहुत अच्छा ! अब अपनी  शिक्षा और कार्य-अनुभव के बारे में कुछ बताइए। 

 संतोष – सर ! जैसाकि मेरे प्रमाण-पत्र  में दर्ज है – 16 अगस्त 1980 को मेरा जन्म आगरा में हुआ और मेरी प्रारंभिक शिक्षा सेंट जॉर्जेस स्कूल से पूरी हुई। बी.कॉम.ऑनर्स की डिग्री मैंने श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स दिल्ली से प्राप्त की। बी.कॉम के दौरान एकॉउंटेसी में विशेष रुचि ने मुझे सी.ए. करने के लिए प्रेरित किया। मैंने इंटर  और बी.कॉम में भी एकाउंटेसी विशेष योग्यता के साथ पास की थी। सी.ए. की डिग्री मुझे तीन साल के अंदर ही  मिल गई थी। अपनी सी.ए. की पढ़ाई के दौरान मैं आर्टिकलशिप के लिए महेंद्रा एंड महेंद्रा की एक यूनिट में जाता था। जहाँ सी.ए. की योग्यता के कारण मेरी पहली नौकरी लगी।

 नियोक्ता – महेंद्रा एंड महेंद्रा की किस यूनिट में आपने काम किया है?

संतोष – सर ! नोएडा वाले यूनिट में।

नियोक्ता –वहाँ तो कोई मिस्टर चोपड़ा फाइनेंस के हेड हैं !

संतोष – जी सर ! आर.एल.चोपड़ा – श्री रमन लाल चोपड़ा।

नियोक्ता – हाँ , मैंने और चोपड़ा ने एक साथ सन 1955 में लंदन से ऑनर्स में डिग्री ली थी।

संतोष – तो आप श्री चोपड़ा को अच्छी तरह जानते होंगे ? चाहें तो उनसे मेरे बारे में पूछताछ कर सकते हैं।

नियोक्ता – नहीं , इसकी कोई आवश्यकता नहीं।अगर आप पिछले तीन साल से महेंद्रा एंड महेंद्रा में काम कर रहे थे फिर अचानक यहाँ —

संतोष – सर ! मेरे ख़्याल से तीन साल में मैंने महेंद्रा एंड महेंद्रा में बहुत कुछ अनुभव प्राप्त कर लिया है। अब मैं नए अनुभव  के लिए आपके यहाँ आना चाहता हूँ।

नियोक्ता – मिस्टर  संतोष ! आपकी  शैक्षिक योग्यता  एवं कार्यानुभव हमारे लिए काफ़ी उपयुक्त है। मैं  अभी अपने जी.एम. से आपकी मुलाकात करवाता हूँ। वे आपसे सेवा-शर्तों की चर्चा करेंगे और दो–चार दिन में आपको नियुक्तिपत्र भिजवा देंगे। आप बाहर इंतज़ार करें।

संतोष – धन्यवाद सर ! आपके यहाँ काम करना मेरा सौभाग्य होगा। नमस्कार।

नियोक्ता – नमस्कार।

            (संतोष मिश्रा उठकर बाहर जाता है)

Glossary

( shabdkosh.com is a link for an onine H-E and E-H dictionary for additional help)

साक्षात्कार  m interview
पुकारना बुलाना, to call (not on telephone)
भीतर अंदर, inside
नियोक्ता  m employer, hiring authority
अभिवादन करना to greet
सँभालना to take care of
आवेदन पत्र  m अर्ज़ी f, application letter (for a job, etc.)
आशीर्वाद  m blessing
प्रारंभिक शिक्षा  f primary education
रुचि  f दिलचस्पी f, interest
योग्यता काबलियत f, ability, capability
आवश्यकता  f ज़रूरत f, need
कार्यानुभव  m काम का तजुर्बा m, work-experience
नियुक्ति-पत्र  m appointment-letter
सौभाग्य  m ख़ुशकिस्मती f, good luck

Structural Review

1. साक्षात्कार, नियोक्ता, प्रारंभिक शिक्षा, प्रमाणपत्र, कार्यानुभवसेवा-शर्तें, नियुक्ति-पत्र

 

Hundreds of new words and combination of words have taken on new meanings in order to match their English equivalents used in different professional contexts.
2. अकाउंटेंट, बैग, यूनिट, हेड, एकॉउंटेसी These words have Hindi equivalents which are either not used frequently or have a different connotation.  For example, there is a difference between अकाउंटेंट and मुनीम, and similarly between बैग and थैला.
3. सर, मिस्टर

 

 

The use of such words depends on speakers’ personal choice. Instead of सर or मिस्टर, one could have easily used the Hindi words श्रीमन् for addressing someone or श्री as an honorific title However, the preference for the use of English words is becoming very frequent in many regions of India and is dictated by factors like habit, modernity, higher education, etc.
4. सेंट जॉर्जेस स्कूल,

बी.कॉम.ऑनर्स, सी.ए., जी.एम.

Such English proper nouns and acronyms are commonly used and Hindi equivalents of these are not common.
5. मैं  …. आपकी मुलाकात करवाता हूँ

 

Most Hindi verbs have two causative forms, which are known as first causative and second causative. In the case of some verbs, the meanings of the first and second causatives are identical. For example, in the case of पढ़ना-पढ़ाना-पढ़वाना, meanings are distinct. But in the case of करना-कराना-करवाना, the two causative forms have the same meaning. Is a note about the distinction needed here?

Cultural Notes

1. Family Background

 

Traditionally, family background was very important. However, in modern corporate settings, this is no longer an important factor.
2. Courtesy Expressions

 

Use of courtesy expressions for a person one is communicating with or referring to, is necessary to show respect. People who are younger in age and junior in social or professional status are expected to use such expressions when talking to or about their seniors. Examples from this unit are – अभिवादन करना, नमस्कार, जी, use of plural forms, मिस्टर, सर, सौभाग्य.
3. Addressing Others

 

Addressing older persons or professional superiors by first name has not been a common practice. This appears to be changing, especially in the corporate world and using a respect marker either before or after the first or last name is common.

Practice Activities (all responses should be in Hindi)

1. If you were to interview Santosh Mishra what questions you would like to ask him. Frame five appropriate questions in Hindi.
2. Compare and contrast the American way and the Indian way of interviewing and the type of questions that are asked in a job interview.
3. With the help of the questions you framed, interview each other and then critique how each other’s questions worked out.
4. What are the courtesy expressions used in this unit?
5. संतोष – सर ! क्या मैं भीतर आ सकता हूँ ?

What are different ways in which one could have said the same thing without using any English word? Make sure what you suggest is contextually and culturally appropriate.

6. वहाँ तो कोई मिस्टर चोपड़ा फाइनेंस के हेड हैं

What would be an appropriate word in Hindi for हेड?

Comprehension Questions

1. Talking about his family, what is Santosh Mishra trying to emphasize?

a. his family’s high social status

b. that his family is very eduated

c. that his family is very needy.

d. that he is very family-oriented.

3. What is the role of Mr. Chopra in this interview?

a. He is the one who recommended Santosh.

b. He is mentioned as a reference in Santosh’s application.

c. The employer wants to call him to know more about Santosh.

d. He is just casually mentioned during the conversation.

 

Previous | Next

Skip to toolbar