Skip to toolbar

Module 7

Previous | Next

Module Seven – Case-Studies

केस-स्टडीज़

Case-Studies

Indian Life Insurance Corporation

Module 7.1

केस-स्टडीज़ – 1

भारतीय जीवन बीमा निगम

 

 

परिचय

भारतीय जीवन बीमा निगम ने वित्तीय सुरक्षा प्रदान कर लाखों लोगों की दुनिया गुलज़ार कर दी और उनको ऐसी सुविधाएँ प्रदान की हैं जो उनकी हर ज़रूरत को पूरा करती रहेंगी इसने उनके रहने का तरीक़ा ही बदल दिया। सन् 2000 तक भारतीय जीवन बीमा निगम एक अकेली ऐसी कंपनी थी जो जीवन बीमा की सुविधा प्रदान करती थी। इसके 8 लाख एजेंट्स पूरे देश में काम को सँभालते थे और उन्होंने वितरण के लिए एक बहुत सफल नेटवर्क बनाया था। 2007 तक देश में इंश्युरेन्स कंपनी के एजेंट्स का 25 लाख का मजबूत आधार बन चुका था। इनमें 11 लाख के करीब भारतीय जीवन बीमा निगम के ही थे बाकी 14 लाख अन्य सभी निजी कंपनियों के।

कंपनी के बीमा एजेंट्स

भारत में यह चिंताजनक स्थिति थी कि उन दिनों बीमा आसानी से कोई करवाता नहीं था इसलिए एजेंट्स अगर अतिरिक्त मेहनत न करें तो उनकी कोई पहचान बननी मुश्किल होती थी। भारतीय जीवन बीमा निगम अपने एजेंट्स बढ़ाना चाहती थी पर हर वर्ष काम छोड़नेवालों की संख्या बढ़ रही थी क्योंकि वे अपेक्षित सफलता प्राप्त नहीं कर पा रहे थे। भारतीय जीवन बीमा निगम चाहती थी कि उस के एजेंट्स साल में कम से कम 12 इंश्योरेंस पॉलिसीज़ अवश्य बेचें। बाज़ार में कंपनी हर साल जिन 100 बीमा एजेंट्स की  भर्ती करती थी उनमें से पहले पाँच वर्षों में केवल 20-25 ही रुक पाते थे।

जीवन बीमा निगम की कार्यपद्धति

सच पूछिए तो अभी भी कुछ लोग ही बीमा के व्यवसाय को पूर्णकालिक व्यवसाय बनाना चाहते हैं। अधिकांश युवा इसे एक अच्छी नौकरी पाने के लिए एक सीढ़ी की तरह इस्तेमाल करते हैं। इस प्रवृत्ति को कम करने के लिए निगम एक नई योजना लेकर आई जिसमें वे अपने एजेंट्स को थोड़ी और मुहलत देने लगे। पहले जहाँ उन्हें एक साल में न्यूनतम लक्ष्य पूरा करना होता था वहीं अब उन्हें तीन साल का समय दिया जाने लगा। अर्थात् जहाँ उन्हें एक साल में 12 बीमा कराने पड़ते थे वहाँ अब उनका लक्ष्य तीन साल में 36 बीमा का हो गया। इसके पीछे तर्क यह था कि अगर कोई नया कर्मचारी पहले साल में यह लक्ष्य प्राप्त नहीं कर पाता तो वह इसे तीन साल में मेहनत करके प्राप्त कर सकता है।

उस विकास अधिकारी के लिए (जो बीमा निगम एजेंट्स के काम देखता था) यह एक  प्रकार की प्रेरणा  थी कि उसके एजेंट्स एक लाभप्रद स्थिति में रहें। अपने अधीनस्थ एजेंट्स को लक्ष्य प्राप्ति के लिए थोड़ा और समय और प्रेरणा देकर उनका अच्छा प्रबंधन करने के लिए यह स्थिति थी। कंपनी के पास 24,000 विकास अधिकारी हैं और प्रत्येक लगभग 40-400 एजेंट्स के काम को देखते हैं |

बाज़ार में प्रतियोगिता को बढ़ता देख कर और अपना मार्केट शेयर बचाने के लिए निगम ने सोचा कि एजेंट्स की गुणवत्ता में और वृद्धि की जाए। इसके लिए एक  योजना के तहत प्रमुख बीमा सलाहकार का एक पद सृजित किया गया। इनके अनुभव का उपयोग करने की दृष्टि से कंपनी अपने सेवा-निवृत्त कर्मचारियों का भी इस्तेमाल करने लगी। इसी प्रकार अन्य निजी कंपनियाँ भी अपने सेवा-निवृत्त कर्मचारियों का लाभ उठा रही थीं। इस प्रकार वरिष्ठ और सेवा-निवृत्त एजेंट्स को प्रमुख बीमा सलाहकार बना कर एक नया अवसर दिया जाता था। उनका  काम होता था नए एजेंट्स की भर्ती करना।

2000 एजेंट्स ने प्रमुख बीमा सलाहकार बनने का विकल्प चुनानिगम ने यह योजना बनाई कि इस समय जो पहले से काम कर रहे हैं उनसे इनका टकराव न हो और इन्हें सामान्य एजेंट्स से ज़्यादा वेतन दिया जाए। 2008-9 इस योजना का पहला साल था और इसके माध्यम से कंपनी ने 1.35 लाख नए एजेंट्स अपने नेटवर्क में जोड़ लिए। इन नए एजेंट्स ने पहले ही साल में 11 लाख पॉलिसीज़ बाज़ार में बेचीं जिससे निगम को 1100 करोड़ का फ़ायदा हुआ। 2009-10 में उक्त अधिकारियों के  नेटवर्क ने 1200 करोड़ रुपए से भी ज़्यादा का प्रीमियम व्यापार निगम को दिया। अब बीमा निगम के पास 15 लाख से भी ज़्यादा एजेंट्स हैं जो लोगों की जिंदगी को बेहतर बनाने में मदद कर रहे हैं। 

उपयोगी शब्दार्थ

( shabdkosh.com is a link for an onine H-E and E-H dictionary for additional help)

बीमा निगम m 

वित्तीय सुरक्षा f 

गुलज़ार m

निजी कंपनी f

चिंताजनक स्थिति f

अतिरिक्त मेहनत f

अपेक्षित सफलता f

कार्यपद्धति f

पूर्णकालिक 

अधिकांश

युवा m/f

प्रवृत्ति f

मुहलत f 

न्यूनतम

लक्ष्य m

तर्क m

प्रेरणा f

लाभप्रद स्थिति f 

अधीनस्थ

प्रबंधन m

विकास अधिकारी m/f            

प्रतियोगिता f 

सृजित करना 

अनुभव m 

उपयोग m

सेवा-निवृत्त

वरिष्ठ

विकल्प m

टकराव m

सामान्य 

वेतन m

माध्यम

insurance corporation

financial security

flower gardenvibrant (figuratively)

private company

worrying situation

extra labor

expected success

working style

full time

most

youth

trend, attitude

respite, break, breathing time

minimum

aim

argument

inspiration

profitable situation

subordinate

management

development officer            

contest

to create

experience

use

retired

senior

alternative

conflict

ordinary                                         

salary

medium

Linguistic and Cultural Notes

1. Sequence of Verb phrases – There are various verb collocations beyond the simple tense and aspect/modal formation of verbs. The following are examples from the lesson where such verb collocations have been used. These provide specialized aspectual meanings.

(पूरा) करते रहना (Vते – रहना) = to keep doing

बन चुकना (Verb stem – चुकना) = to be already finished

कर पाना, रुक पाना (Verb stem – पाना) = to be able to do

बनाना चाहना (Verb infinitive – चाहना) = to want to make

देने लगना, दिया जाने लगना, करने लगना (Verb infinitive – oblique लगना) = to begin to V

कराना पड़ना (Verb infinitive पड़ना) = to have to V

कर सकना (Verb stem – सकना) = can V

देख कर (Verb stem – कर) = having V (done/seen, etc.)/ after doing/seeing

2. A case study is a piece of research in which a specific aspect of an organizational activity is investigated in some detail. In Indian businesses such case studies are part of the modern business style and are almost exclusively done in English. However, very recently some studies have started appearing in Hindi also.

3.The concept of insurance is very old in India. It is mentioned in the form of contributions that should be utilized in the time of calamity. Sanskrit treatises such as manu-smriti, dharmashastras, and arthshastra have references to this concept. In modern India, insurance business was nationalized in 1956. In the year 2000, the insurance business was opened to foreign direct investment up to 26%, which was recently increased to 49%.                                                                                                

Language Development

The two following vocabulary categories are designed for you to enlarge and strengthen your vocabulary.  Extensive vocabulary knowledge sharpens all three modes of communication, With the help of dictionaries, the internet and other resources to which you have access, explore the meanings and contextual uses of as many words as you can in order to understand their many connotations.

Semantically Related Words

Here are words with similar meanings but not often with the same connotation.

सुरक्षा

स्थिति 

मेहनत 

अपेक्षित

सफलता

कार्यपद्धति

युवा

लक्ष्य

प्रतियोगिता

सृजित करना

उपयोग

सामान्य

हिफ़ाज़त

हालत

परिश्रम, श्रम

आशानुकूल

कामयाबी

कार्यशैली

जवान, युवक

उद्देश्य, उद्दिष्ट

मुकाबला, स्पर्धा, प्रतिस्पर्धा, प्रतिद्वन्द्विता

सर्जन करना, उत्पन्न करना

प्रयोग, इस्तेमाल

साधारण, मामूली

Structurally Related Words (Derivatives)

वित्त, वित्तीय, वेतन, वैतनिक, अवैतनिक

अपेक्षा, अपेक्षित, अनपेक्षित, सापेक्ष, अपेक्षाकृत

अधिक, अधिकांश, अधिकता, आधिक्य

युवा, युवक, युवती

वृत्ति, प्रवृत्ति

न्यून, न्यूनता, न्यूनतम

तर्क, तर्क-वितर्क, कुतर्क, तर्क-संगत, तार्किक, अतार्किक         

लाभ, लाभांश, लाभदायक,लाभप्रद, लाभकारी

अधीन, अधीनस्थ, अधीनता

प्रबंध, प्रबंधन, प्रबंधक

अधिकार, अधिकारी, आधिकारिक, अधिकृत, प्राधिकृत

प्रतियोगी, प्रतियोगिता

उपयोग, उपयोगी, उपयोगिता     

Comprehension Questions

1. How many different ranks are mentioned within BJBN?

a. 1

b. 2

c. 3

d. 4

2. Which statement is not based on the text?

a. BJBN in the public sector competed well with private companies.

b. BJBN introduced two schemes to increase its number of agents.

c. BJBN agents did not find their jobs attractive enough to continue.

d. BJBN profits could not increase substantially over the years.